शहरी क्षेत्रों में भी अंत्येष्टि संस्कार के लिए 5000 रुपये देने पर विचार कर रही है योगी सरकार

योगी सरकार ग्रामीण क्षेत्रों की तर्ज पर शहरी क्षेत्रों में आर्थिक रूप से कमजोर, निराश्रित परिवारों को आकस्मिकता की स्थिति में बीमारी की दशा में सहायता प्रदान करने के लिए मुत्यु होने पर अंत्येष्टि, दाह संस्कार के लिए 5000 रुपये देने पर विचार कर रही है। नगर विकास विभाग इस तरह की मदद पहले भी दे चुका है।

प्रदेश सरकार का यह संकल्प है कि प्रदेश के नगरीय क्षेत्रों में निवासरत आर्थिक रूप से कमजोर, निराश्रित परिवारों को आकस्मिकता के समय आर्थिक रूप से विपन्नता के कारण भुखमरी का सामना न करना पड़े। उन्हें बीमारी के समय इलाज के लिए आर्थिक तंगी न हो और किन्हीं परिस्थितियों में परिवार के किसी सदस्य की मृत्यु होने की दशा में आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण उसके दाह संस्कार, अंत्येष्टि न हो पाने की स्थिति उत्पन्न न हो। इसके लिए राज्य वित्त आयोग के बजट से खर्च देने पर विचार किया जा रहा है।

नगर विकास विभाग ने इस संबंध में स्थानीय निकाय निदेशालय से जानकारी मांगी गई कि इसके लिए अनुमानित कितना बजट खर्च होगा। निकाय निदेशालय से जानकारी मिलने के बाद इस पर फैसला किया जाएगा। नगर विकास विभाग वर्ष 2020 में भी पंचायती राज विभाग द्वारा आदेश जारी किए जाने के बाद इस तरह का आदेश जारी किया था। इसीलिए एक बार फिर से इस पर विचार किया जा रहा है।