कोरोना में भाप लेना ब्रह्मास्‍त्र: स्वास्थ्य विभाग

आगरा में कोरोना संक्रमितों में कोरोना के मामूली लक्षण होने पर मरीज होम आइसोलेट किए जा रहे हैं। संक्रमित व्यक्ति को 10 दिन तक घर पर अलग कमरे में रहना है, एक तीमारदार 24 घंटे नजर रखता है। स्वास्थ्य विभाग की टीम सुबह शाम फोन पर तापमान और खून में आक्सीजन के स्तर की जानकारी लेती है। सूत्रों के अनुसार मामूली लक्ष्मण वाले ऐसे 3349 मरीज होम आइसोलेट किए जा चुके हैं। इन मरीजों को कुछ दवाएं और पौष्टिक आहार लेने के​ लिए प्रेरित किया जा रहा है। इसके साथ ही दिन में तीन से चार बार भाप लेने के लिए कहा गया है। सीएमओ  ने बताया कि घर पर रहकर इलाज कराने वाले कोरोना संक्रमित 2917 मरीज ठीक हो चुके हैं। इन मरीजों ने अपने घर पर सामान्य दवाएं लीं, पौष्टिक आहार, गर्म पानी और दिन में तीन से चार वार भाप ली। भाप लेने से फेफड़ों में सिकुडन की आशंका नहीं रहती है। इससे सांस लेने में परेशानी नहीं होती है। वहीं, गला भी ठीक रहता है। कंट्रोल एंड कमांड सेंटर से कोरोना संक्रमित मरीजों को फोन कर पूछा जा रहा है कि आज भाप ली या नहीं ली, जो मरीज भाप नहीं ले रहे हैं, उन्‍हें दिन में तीन से चार बार भाप लेने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।
स्वास्थ्य विभाग द्वारा की गई व्यवस्था के अनुसार  होम आइसोलेट किए गए मरीजों की तबीयत बिगडने पर कंट्रोल एंड कमांड सेंटर के नंबर पर फोन कर सूचना देने के लिए कहा गया है जिससे अस्पताल में भर्ती कराया जा सके।
कंट्रोल एंड कमांड सेंटर के नंबर
0562 2600508, 2600412