ताज महोत्सव रद्द करने और निजी इवेंट कार्यक्रम को मंजूरी देने पर सपा ने जिला प्रशासन को घेरा

आगरा। हर वर्ष शिल्पग्राम में फरवरी माह में आयोजित होने वाले ताज महोत्सव को रद्द किए जाने को लेकर समाजवादी पार्टी आगरा ने जिला प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। समाजवादी पार्टी ने कोरोना की आड़ में ताज महोत्सव को रद्द करने और निजी इवेंट कंपनी के मिडनाइट बाजार को परमिशन देने के मामले में प्रशासन पर सवाल उठाए हैं। सपा कार्यकर्ताओं ने इस मामले में आगरा कमिश्नरी में प्रदर्शन किया और ज्ञापन सौंप ताज महोत्सव को बहाल कराए जाने की मांग उठाई।

समाजवादी पार्टी आगरा के शहर अध्यक्ष चौधरी वाजिद निसार के नेतृत्व में आगरा कमिश्नरी पर प्रदर्शन किया गया। इस दौरान शहर अध्यक्ष ने जिला प्रशासन की कार्यशैली पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि उन्होंने कोरोना का बहाना बनाकर आगरा के गौरव और सांस्कृतिक पहचान के रूप में हर वर्ष आयोजित होने वाले ताज महोत्सव को तो रद्द कर दिया लेकिन सत्ता के दबाव में निजी इवेंट कंपनी के मिडनाइट बाजार को आयोजन कराने की परमिशन दे दी। उन्होंने सवाल किया कि अगर वहां से किसी को कोरोना हुआ तो उसका जिम्मेदार कौन होगा।
सपा कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन सौंपकर फरवरी माह में शिल्पग्राम में आयोजित किए जाने वाले ताज महोत्सव को बहाल कराए जाने की मांग उठाई है। उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर प्रशासन अपनी दोहरी नीति जारी रखता है और ताज महोत्सव को बहाल नहीं करता है तो वे सैकड़ों समर्थकों के साथ बड़ा आंदोलन करने को बाध्य होंगे।