समस्या से कोई नहीं भिड़ा,आपस में भिड़ गए दो विभाग

आगरा में पश्चिमपुरी में लीक हुई पेयजल की पाइप लाइन एक ओर जनता की परेशानी का कारण बनी, वहीं इसे लेकर जलकल विभाग और आगरा विकास प्राधिकरण  आमने-सामने आ गए हैं। अब तक जलकल विभाग के अधिकारी लीकेज को दुरुस्त करने की जिम्मेदारी एडीए के कंधों पर डाल रहे थे, लेकिन बुधवार को एडीए ने जलकल विभाग के सिर ठीकरा फोड़ दिया है। पश्चिमपुरी में परी रेस्टोरेंट के पास पानी की लाइन करीब डेढ़ महीने पहले लीक हुई थी। लोग जलकल विभाग में शिकायत करते रहे। बाद में पता चला कि इस लाइन को आगरा विकास प्राधिकरण की ठीक कराएगा। करीब छह-सात दिन पहले एडीए ने लाइन ठीक करा दी, लेकिन तीन बाद ही फिर से वहां पानी बहने लगा। लोग शिकायत कर रहे हैं, लेकिन लाइन ठीक नहीं कराई जा रही है। इससे वहां दलदल हो गया है। मंगलवार रात एक कार उस दलदल में समां गई। इस पर काफी हंगामा हुआ। जलकल विभाग के अधिकारियों ने कहा कि लाइन एडीए को ठीक करानी चाहिए।सुबह एडीए की टीम मौके पर पहुंची तो वहां की स्थिति देख कहा कि पहले 20 इंच की (फीडरमेन) लाइन लीक हुई थी। इसकी जिम्मेदारी एडीए की थी, उसे ठीक करा दिया गया। अब छह इंच की सप्लाई लाइन लीक हुई है, जो जलकल विभाग की जिम्मेदारी है। इसके संबंध में एडीए की टीम ने जलकल विभाग के सुपरवाइजर को भी जानकारी दी है। एडीए के अधिकारियों का कहना है कि जलकल विभाग लाइन को ठीक कराएगा। पहले जो लाइन लीक हुई थी, वह प्राधिकरण की टीम ने ठीक कराई थी। बुध‌वार को टीम मौके पर गई थी। परीक्षण के बाद पता चला है कि वह लाइन जलकल विभाग की है। एडीए की टीम ने जलकल विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को इसकी बात की जानकारी दे दी है। उन्हें लाइन ठीक करानी चाहिए।