राजा की मंडी या गंदगी की मंडी

राजा की मंडी बाजार में नौ दिन बाद भी में सीवर का पानी भरने की समस्या दूर नहीं हो पाई। नगर निगम के सफाई के दावों को झुठलाते हुए शुक्रवार शाम को बाजार में दुकानों के सामने फिर से गंदा पानी भर गया। नगर निगम ने नाले की सफाई के बाद जलभराव बंद कराने के लिए सीवर चैंबरों की सफाई के लिए वबाग कंपनी की मदद ली थी, लेकिन शुक्रवार शाम को सारे उपाय फिर फेल हो गए। नाले का पानी दुकानों के सामने भरा तो व्यापारियों ने दुकानों में ताले लगा दिए। शनिवार को व्यापारी नगर निगम परिसर में प्रदर्शन करेंगे और नगर आयुक्त का घेराव करेंगे। गुरुवार को अपर नगर आयुक्त ने  निदान के दावे किए और महज 24 घंटे बाद ही राजा की मंडी में और बदतर हालात हो गए। शुक्रवार की शाम को कीचड़ के साथ नाले की गंदगी बाजार में दुकानों के सामने भर गई, जिससे दुर्गंध के कारण व्यापारियों का दुकानों पर बैठना मुहाल हो गया। 

एक ओर नाले का बदबूदार पानी और दूसरी ओर सिल्ट और सड़क खोदाई का मलबा पड़ा हुआ है। ऐसे में ग्राहक भी राजा की मंडी का रुख नहीं कर रहे। व्यापारियों ने कहा है कि वह नगर निगम अधिकारियों को अपनी पीड़ा सुनाने के लिए शनिवार को जाएंगे और पूछेंगे कि आखिर नौ दिनों से नाले के गंदे पानी को रोकने के लिए उपाय क्यों नहीं किए जा रहे। ऐसे तो आगरा स्मार्ट सिटी कभी नहीं बन पायेगी।