रूफटॉप रेस्टोरेंट में रविवार रात 2 बजे एक युवक ने अपने लाइसेंसी हथियार से गोली चला दी, यह गोली वे

आगरा। थाना हरीपर्वत क्षेत्र के एक रूफटॉप रेस्टोरेंट में रविवार रात 2 बजे तक पार्टी चली। इस दौरान एक युवक ने अपने लाइसेंसी हथियार से गोली चला दी, यह गोली वेटर के पैर में लग गई। रेस्टॉरेंट में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पार्टी खत्म हुई, आधी रात को ही वेटर को इलाज के लिए भेजा गया और रूफटॉप रेस्टोरेंट पर लगे सीसीटीवी फुटेज के वीडियो डिलीट कर दिए गए। इतना ही नहीं रेस्टोरेंट संचालक द्वारा इस मामले को दबाने की कोशिश भी की गई।

घटना सूर्य नगर स्थित नंबर वन होटल एंड रेस्टोरेंट के रूफटॉप की है। कोविड नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए यहां रात 2 बजे तक पार्टी चल रही थी। इंस्पेक्टर हरीपर्वत अरविंद कुमार सिंह ने बताया कि पार्टी के दौरान लॉयर्स कॉलोनी निवासी गौरव सिंह ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से हवाई फायर किया लेकिन फायर मिस हो गया। इसके बाद वे पिस्टल को नीचे करके दोबारा कॉक कर रहा था। इसी दौरान गोली चल गई और वहां मौजूद वेटर के पैर की एड़ी में गोली घुस गई। रेस्टोरेंट के स्टाफ ने उसे इलाज के लिए हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया, वहीं इस घटना को दबाने की कोशिश की गयी।

बीते दिन जब यह मामला सोशल मीडिया के माध्यम से संज्ञान में आया तो इस घटना में होटल एंड रेस्टोरेंट के जनरल मैनेजर कुलवंत सिंह भदोरिया की तहरीर पर गौरव सिंह के खिलाफ जानलेवा हमले की धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और उसकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। वहीं पुलिस ने दूसरा मुकदमा अपनी ओर से होटल के जनरल मैनेजर कुलवंत सिंह भदोरिया, मैनेजर शैलेंद्र और संचालक राजेंद्र गोयल को नामजद किया है। इन सभी के खिलाफ सीआरपीसी की धारा 144 का उल्लंघन, सबूत मिटाने और महामारी अधिनियम की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है। इस्पेक्टर हरीपर्वत का कहना है कि रात 10 बजे तक होटल और रेस्टोरेंट बंद किए जाने के आदेश है, इसके बावजूद यहां रात 2 बजे तक पार्टी चल रही थी। वहीं फायरिंग करने वाले आरोपी का पिस्टल जब्त कर लाइसेंस निरस्तीकरण की रिपोर्ट प्रशासन को दी जाएगी।