नकली पेट्रोल, मोबिल ऑयल, डिटर्जेंट पाउडर के बाद नकली खाद

गुरुवार को हाथरस रोड पर कृषि विभाग की टीम ने  जेके नगर स्थित कांप्लेक्स में नकली खाद की फैक्टरी पकड़ी। इसमें नकली पोटाश, डीएपी और जिंक सल्फेट बनाया जा रहा था। छापे के बाद पकड़े गए माल और फैक्टरी को सील कर दिया गया। मामले में एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। 

जिला कृषि अधिकारी  के मुताबिक नकली खाद बनाने की उन्हें गुप्त सूचना मिली थी इसी सूचना के आधार पर छापा मारा गया। विभाग की टीम देख वहां पर काम करने वाले सभी लोग भाग निकले। एक गाड़ी निकल रही थी, उसकी फोटो खींच ली गई है। फैक्टरी में डीएपी, पोटाश और जिंक बन रहा था। मोरंग, पिसी हुई ईंट, नमक और रंग मिलाकर पोटाश बनाया जा रहा था। वहीं, डीएपी जैसे दिखने वाला दाना मिला। मार्बल पाउडर से जिंक बनाया जा रहा था। 

जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि नकली खाद को ब्रांडेड कंपनियों के रैपर में भरकर बेचा जाता था। कृभको, आईपीएल, दयाल कंपनी, उत्तम बायो फर्टिलाइजर के खाली और भरे हुए कट्टे  फैक्टरी से बरामद किए गए। जिलाधिकारी की अनुमति लेकर मामले में मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

छापे में गई टीम के हवाले से बताया गया कि मौके से 197 क्विंटल डीएपी जैसी दिखने वाली दानेदार काले रंग की सामग्री, नमक 17 क्विंटल, दयाल मोनो जिंक के पैक पैकेट 10.70 क्विंटल, उत्तम गोल्ड मोनो के पैकेट 60 किलोग्राम, लाल रंग का पाउडर 7.8 किलोग्राम, काले रंग का पाउडर 700 ग्राम, हरे रंग का पाउडर दो किलोग्राम, 100 घन फीट लाल मोरंग का ढेर सहित फावड़ा, बेलचा, तराजू आदि सामान मिले। नकली फर्टिलाइजर ब्रांडेड कंपनियों के रेपर में भरा गया था। यहां से खाद की जानकारी देते पर्चे भी मिले।