कोरोना की चपेट में आया आगरा विकास प्राधिकरण विभाग, 19 संक्रमित

आगरा विकास प्राधिकरण कार्यालय में कोरोना का मकड़जाल फैल गया है।  प्रभारी अधिशासी अभियंता और एक अवर अभियंता सहित 19 कर्मचारियों में कोविड की पुष्टि हुई है। 24 घंटे के भीतर 7 कर्मचारी संक्रमित हो चुके हैं जबकि आधा दर्जन से अधिक कर्मचारियों को बुखार आ रहा है, ये सभी अपने अपने घरों में हैं।

आगरा विकास प्राधिकरण में सप्ताह भर के भीतर दर्जनभर कर्मचारियों को कोविड-19 की पुष्टि हो चुकी है। इसकी शुरुआत वित्त नियंत्रक और संयुक्त सचिव से हुई थी। पंचायत चुनाव में लगे दो अवर अभियंताओं को कोविड-19 की पुष्टि के बाद ड्यूटी से मुक्त कर दिया गया था। बीते बुधवार को प्राधिकरण के उपाध्यक्ष के आदेश पर परिसर में शिविर लगाया गया था 248 में से 98 कर्मचारियों ने कोविड-19 कराया। इनकी रिपोर्ट अब आ रही है। शुक्रवार को प्रभारी अधिशासी अभियंता और एक जूनियर इंजीनियर, तीन कंप्यूटर ऑपरेटर एक कर्मचारी को कोविड-19 की पुष्टि हुई। गुरुवार को उपाध्यक्ष के निजी सचिव कोरोना से संक्रमित मिले थे। जिस तरीके से कर्मचारी कोविड-19 की चपेट में आ रहे हैं उसे देखते हुए तो यही लगता है कि जल्द ही प्राधिकरण आफिस को 2 से 3 दिनों के लिए बंद किया जा सकता है।

बता दें कि कोरोना वायरस की पहली लहर यानि 2020 में भी एडीए विभाग में कोरोना वायरस ने पैर पसारे थे। संक्रमण का फैलाव कर्मचारियों के परिवार तक पहुंच गया था। उस वक्त स्थिति को देखते हुए संबंधित विभाग को बंद कर दिया जाता था। अब फिर वही हालात बन रहे हैं। स्थिति को देखते हुए कार्यालय को बंद किया जा सकता है।